Lyrics Main Hoon Prem Rogi

0
732

Lyrics in English | Main Hoon Prem Rogi | Prem Rog (1982) | Rishi Kapoor

Are Kuchh Nahi Kuchh Nahi (2)
Phir Kuchh Nahi Hai Bhaata
Jab Rog Ye Lag Jaata
Main Hoon Prem Rogi

Haan Main Hoon Prem Rogi
Meri Dawaa To Karao
Main Hoon Prem Rogi
Meri Dawaa To Karao
Jao Jao Jao Kisi Vaid Ko Bulao
Main Hoon Prem Rogi

Phir Kuchh Nahi Hai Bhaata
Jab Rog Ye Lag Jaata
Main Hoon Prem Rogi
Meri Dawaa To Karao
Main Hoon Prem Rogi………..

Soch Raha Hoon Jag Kya Hota (2)
Is Me Agar Ye Pyar Na Hota
Mausam Ka Ehsaas Na Hota
Gul Gulshan Gulzaar Na Hota
Hone Ko Kuchh Bhi Hota Par (2)
Ye Sundar Sansaar Na Hota

Mere In Khayalon Me (2)
Tum Bhi Doob Jaao
Mere In Khayalon Me
Tum Bhi Doob Jaao
Jao Jao Jao Kisi Vaid Ko Bulao
Main Hoon Prem Rogi………..

Yaaron Hai Wo Kismat Waala
Prem Rog Jise Lag Jaata Hai
Sukh Dukh Ka Use Hosh Nahi Hai
Apni Lau Me Ram Jaata Hai
Har Pal Khud Hi Khud Hansta Hai
Har Pal Khud Hi Khud Rota Hai

Ye Rog Lailaaj Sahi
Phir Bhi Kuchh Karao
O Jao Jao Jao
Are Jao Jao Jao
Mere Vaid Ko Bulao
Mera Ilaaj Karao
Aur Nahi Koyee
To Mere Yaar Ko Bulao
O Jao Jao Jao
Mere Dildaar Ko Bulao
Main Hoon Prem Rogi
Meri Dawaa To Karao
Main Hoon Prem Rogi………..

Song: Mohabbat Hai Kya Cheez
Film: Prem Rog (1982)
Singer: Lata Mangeshkar, Suresh Wadkar
Music Director: Laxmikant-Pyarelal
Lyricist: Santosh Anand
Featuring: Rishi Kapoor, Padmini Kohlapure

Lyrics in Hindi | Main Hoon Prem Rogi | Prem Rog (1982) | Rishi Kapoor

अरे कुछ नहीं कुछ नहीं (2)
फिर कुछ नहीं है भाता
जब रोग ये लग जाता
मैं हूँ प्रेम रोगी

हाँ मैं हूँ प्रेम रोगी
मेरी दवा तो कराओ
मैं हूँ प्रेम रोगी
मेरी दवा तो कराओ
जाओ जाओ जाओ किसी वैद्य को बुलाओ
मैं हूँ प्रेम रोगी

फिर कुछ नहीं है भाता
जब रोग ये लग जाता
मैं हूँ प्रेम रोगी
मेरी दवा तो कराओ
मैं हूँ प्रेम रोगी ………..

सोच रहा हूँ जग क्या होता (2)
इस में अगर ये प्यार ना होता
मौसम का एहसास ना होता
गुल गुलशन गुलज़ार ना होता
होने को कुछ भी होता पर (2)
ये सुन्दर संसार ना होता

मेरे इन ख्यालों में (2)
तुम भी डूब जाओ
मेरे इन ख्यालों में
तुम भी डूब जाओ
जाओ जाओ जाओ किसी वैद्य को बुलाओ
मैं हूँ प्रेम रोगी ………..

यारों है वो किस्मत वाला
प्रेम रोग जिसे लग जाता है
सुख दुःख का उसे होश नहीं है
अपनी लौ में राम जाता है
हर पल खुद ही खुद हँसता है
हर पल खुद ही खुद रोता है

ये रोग लाइलाज सही
फिर भी कुछ कराओ
ओ जाओ जाओ जाओ
अरे जाओ जाओ जाओ
मेरे वैद्य को बुलाओ
मेरा इलाज कराओ
और नहीं कोई
तो मेरे यार को बुलाओ
ओ जाओ जाओ जाओ
मेरे दिलदार को बुलाओ
मैं हूँ प्रेम रोगी
मेरी दवा तो कराओ
मैं हूँ प्रेम रोगी ………..

गीत: मैं हूँ प्रेम रोगी
फिल्म: प्रेम रोग (1982)
गायक: सुरेश वाडकर
संगीतकार: लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल
गीतकार: संतोष आनंद
कलाकार: ऋषि कपूर, पद्मिनी कोल्हापुरे

More Songs from Prem Rog (1982)

Spread the love

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here