Lyrcis Meri Kismat Me

0
1027

Meri Kismat Me Tu Nahi Shayad-(Prem Rog-1982)-Lyrics in English

Meri Kismat Me Tu Nahin Shayad
Kyun Tera Intzaar Karta Hoon
Main Tujhe Kal Bhi Pyar Karta Tha
Main Tujhe Ab Bhi Pyar Karta Hoon

Meri Kismat Me Tu Nahin Shayad
Kyun Tera Intzaar Karta Hoon
Main Tujhe Kal Bhi Pyar Karta Tha
Main Tujhe Ab Bhi Pyar Karta Hoon
Meri Kismat Me Tu Nahin Shayad

Aaj Samajhi Hoon Pyar Ko Shayad
Aaj Main Tujh Ko Pyar Karti Hoon
Kal Mera Intzaar Tha Tujh Ko
Aaj Main Intzaar Karti Hoon
Meri Kismat Me Tu Nahin Shayad………….

Sochta Hoon Ki Meri AAankhonn Ne
Kyun Sajaaye Thai Pyar Ke Sapne
Tujh Se Maangi Thi Ik Khushi Maine
Tune Gham Bhi Nahin Diye Apne (2)

Zindgi Bojh Ban Gayee Ab To
Ab To Jeeta Hoon Aur Na Marta Hoon
Main Tujhe Kal Bhi Pyar Karta Tha
Main Tujhe Ab Bhi Pyar Karta Hoon
Meri Kismat Me Tu Nahin Shayad………..

Ab Na Toote Ye Pyar Ke Rishte (2)
Ab Ye Rishte Sambhalne Honge
Meri Raahon Se Tujh Ko Kal Ki Terah
Dukh Ke Kaante Nikalne Honge (2)

Mil Na Jaayen Khushi Ke Raste Me
Gham Ki Parchhaaiyon Se Darti Hoon
Kal Mera Intzaar Tha Tujh Ko
Aaj Main Intzaar Karti Hoon
Aaj Samajhi Hoon Pyar Ko Shayad……….

Dil Nahin Ikhtiyaar Me Mere
Jaan Jaayegi Pyar Me Tere

Tujh Se Milne Ki Aas Hai Aa Ja
Meri Duniya Udaas Hai Aa Ja (2)

Pyar Shayad Isi Ko Kahte Hain
Har Ghadi Bekraar Rehta Hoon

Raat Din Teri Yaad Aati Hai
Raat Din Intzaar Karti Hoon

Meri Kismat Me Tu Nahin Shayad
Kyun Tera Intzaar Karta Hoon

Main Tujhe Kal Bhi Pyar Karti Thi

Main Tujhe Ab Bhi Pyar Karta Hoon

Main Tujhe Pyar Pyar Karti Hoon

Main Tujhe Paar Pyar Karta Hoon

Main Tujhe Pyar Pyar Karti Hoon…………

Song: Meri Kismat Me Tu Nahin Shayad
Film: Prem Rog (1982)
Singer: Lata Mangeshkar, Suresh Wadkar
Music Director: Laxmikant-Pyarelal
Lyricist: Amir Qazalbash
Featuring: Rishi Kapoor, Padmini Kohlapure

Meri Kismat Me Tu Nahi Shayad-(Prem Rog-1982)-Lyrics in Hindi

मेरी किस्मत में तू नहीं शायद
क्यों तेरा इंतज़ार करता हूँ
मैं तुझे कल भी प्यार करता था
मैं तुझे अब भी प्यार करता हूँ

मेरी किस्मत में तू नहीं शायद
क्यों तेरा इंतज़ार करता हूँ
मैं तुझे कल भी प्यार करता था
मैं तुझे अब भी प्यार करता हूँ
मेरी किस्मत में तू नहीं शायद

आज समझी हूँ प्यार को शायद
आज मैं तुझ को प्यार करती हूँ
कल मेरा इंतज़ार था तुझ को
आज मैं इंतज़ार करती हूँ
मेरी किस्मत में तू नहीं शायद ………….

सोचता हूँ की मेरी आँखों ने
क्यों सजाये थे प्यार के सपने
तुझ से मांगी थी इक ख़ुशी मैंने
तूने ग़म भी नहीं दिए अपने (2)

ज़िंदगी बोझ बन गयी अब तो
अब तो जीता हूँ और ना मरता हूँ
मैं तुझे कल भी प्यार करता था
मैं तुझे अब भी प्यार करता हूँ
मेरी किस्मत में तू नहीं शायद ………..

अब ना टूटे ये प्यार के रिश्ते (2)
अब ये रिश्ते सँभालने होंगे
मेरी राहों से तुझ को कल की तरह
दुःख के कांटे निकलने होंगे (2)

मिल ना जाएँ ख़ुशी के रस्ते में
ग़म की परछाइयों से डरती हूँ
कल मेरा इंतज़ार था तुझ को
आज मैं इंतज़ार करती हूँ
आज समझी हूँ प्यार को शायद……….

दिल नहीं इख्तियार में मेरे
जान जायेगी प्यार में तेरे

तुझ से मिलने की आस है आ जा
मेरी दुनिया उदास है आ जा (2)

प्यार शायद इसी को कहते हैं
हर घड़ी बेकरार रहता हूँ

रात दिन तेरी याद आती है
रात दिन इंतज़ार करती हूँ

मेरी किस्मत में तू नहीं शायद
क्यों तेरा इंतज़ार करता हूँ

मैं तुझे कल भी प्यार करती थी

मैं तुझे अब भी प्यार करता हूँ

मैं तुझे प्यार प्यार करती हूँ

मैं तुझे प्यार प्यार करता हूँ

मैं तुझे प्यार प्यार करती हूँ …………

गीत: मेरी किस्मत में तू नहीं शायद
फिल्म: प्रेम रोग (1982)
गायक: सुरेश वाडकर, लता मंगेशकर
संगीतकार: लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल
गीतकार: आमिर क़ज़लबाश
कलाकार: ऋषि कपूर, पद्मिनी कोल्हापुरे

More Songs from Prem Rog (1982)

Spread the love

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here