Lyrics Dekha Ek Khwaab To

0
2135

Lyrics in English | Dekha Ek Khwaab To Ye Silsile Hue | Silsila (1981) | Amitabh Bachchan | Rekha

Dekha Ek Khwaab To Ye Silsile Hue
Door Tak Nigaah Me Hain Gul Khile Hue
Dekha Ek Khwaab To Ye Silsile Hue
Door Tak Nigaah Me Hain Gul Khile Hue

Ye Gila Hai Aap Ki Nigahon Se
Phool Bhi Ho Darmiyaan To Faasle Hue
Dekha Ek Khwaab To Ye Silsile Hue
Door Tak Nigaah Me Hain Gul Khile Hue……….

Songs Starting from “D”

Meri Saanson Me Basi Khushboo Teri
Ye Tere Pyar Ki Hai Jadugari
Teri Aawaz Hai Hawaaon Me
Pyar Ka Rang Hai Phizaaon
Dhadkano Me Tere Geet Hain Mile Hue
Kya Kahoon Ke Sharm Se Hain Lab Sile Hue
Dekha Ek Khwaab To Ye Silsile Hue
Phool Bhi Ho Darmiyaan To Faasle Hue………

Best Duet Songs of Kishore Kumar and Lata Mangeshkar

Mera Dil Hai Teri Panaahon Me
Aa Chhupa Loon Tujhe Main Baahon Me
Teri Tasveer Hai Nigaahon Me
Door Tak Roshni Hai Raahon Me
Kal Agar Na Roshni Ke Kaafile Hue
Pyar Ke Hazaar Deep Hain Jale Hue
Dekha Ek Khwaab To Ye Silsile Hue
Door Tak Nigaah Me Hain Gul Khile Hue

Ye Gila Hai Aap Ki Nigahon Se
Phool Bhi Ho Darmiyaan To Faasle Hue
Dekha Ek Khwaab To Ye Silsile Hue
Door Tak Nigaah Me Hain Gul Khile Hue……….

Song: Dekha Ek Khwaab To Ye Silsile Hue
Film: Silsila (1981)
Singer: Lata Mangeshkar, Kishore Kumar
Music Director: ShivHari
Lyricist: Javed Akhtar
Featuring: Amitabh Bachchan, Rekha

Lyrics Dekha Ek Khwaab To Ye Silsile Hue from Silsila (1981)

Lyrics in Hindi | Dekha Ek Khwaab To Ye Silsile Hue | Silsila (1981) | Amitabh Bachchan | Rekha

देखा एक ख्वाब तो ये सिलसिले हुए
दूर तक निगाह में हैं गुल खिले हुए
देखा एक ख्वाब तो ये सिलसिले हुए
दूर तक निगाह में हैं गुल खिले हुए

ये गिला है आप की निगाहों से
फूल भी हो दरमियान तो फासले हुए
देखा एक ख्वाब तो ये सिलसिले हुए
दूर तक निगाह में हैं गुल खिले हुए ……….

Top 100 Romantic Songs of 80s

मेरी साँसों में बसी खुशबू तेरी
ये तेरे प्यार की है जादूगरी
तेरी आवाज़ है हवाओं में
प्यार का रंग है फिज़ाओं
धड़कनों में तेरे गीत हैं मिले हुए
क्या कहूँ के शर्म से हैं लब सिले हुए
देखा एक ख्वाब तो ये सिलसिले हुए
दूर तक निगाह में हैं गुल खिले हुए ………

Top 25 Songs of Shiv-Hari

मेरा दिल है तेरी पनाहों में
आ छुपा लूँ तुझे मैं बाहों में
तेरी तस्वीर है निगाहों में
दूर तक रौशनी है राहों में
कल अगर ना रौशनी के काफिले हुए
प्यार के हज़ार दीप हैं जले हुए
देखा एक ख्वाब तो ये सिलसिले हुए
दूर तक निगाह में हैं गुल खिले हुए
ये गिला है आप की निगाहों से
फूल भी हो दरमियान तो फासले हुए
देखा एक ख्वाब तो ये सिलसिले हुए
दूर तक निगाह में हैं गुल खिले हुए ……….

गीत: देखा एक ख्वाब तो ये सिलसिले हुए
फिल्म: सिलसिला (1981)
गायक: लता मंगेशकर, किशोर कुमार
संगीतकार: शिवहरी
गीतकार: जावेद अख्तर
कलाकार: अमिताभ बच्चन, रेखा

Spread the love

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here