Lyrics Zulmi Sang Aankh Ladi

0
778

Lyrics in English | Zulmi Sang Aankh Ladi | Madhmati (1958) | Lata Mangeshkar

Zulmi Sang Aankh Ladi
Zulmi Sang Aankh Ladi Re
Zulmi Sang Aankh Ladi
Zulmi Sang Aankh Ladi Re
Zulmi Sang Aankh Ladi
Zulmi Sang Aankh Ladi Re

Sakhi Main Ka Se Kahoon
Ri Sakhi Main Ka Se Kahoon
Jaane Kaise Ye Baat Badhi
Zulmi Sang Aankh Ladi Re
Zulmi Sang Aankh Ladi
Zulmi Sang Aankh Ladi Re……….

Songs Starting from “Z”

Wo Chhup Chhup Ke Bansari Bajaaye
Wo Chhup Chhup Ke Bansari Bajaaye Re
Wo Chhup Chhup Ke Bansari Bajaaye
Sunaye Mohe Masti Me Dooba Hua Raag Re
Mohe Taaron Ki Chhaanv Me Bulaaye
Mohe Taaro Ki Chhaanv Me Bulaaye Re
Mohe Taaron Ki Chhaanv Me Bulaaye
Churaaye Meri Nindiya
Main Reh Jaaun Jaag Re
Lage Din Chhota Raat Badi
Zulmi Sang Aankh Ladi Re
Zulmi Sang Aankh Ladi
Zulmi Sang Aankh Ladi Re

Sakhi Main Ka Se Kahoon
Ri Sakhi Main Ka Se Kahoon
Jaane Kaise Ye Baat Badhi
Zulmi Sang Aankh Ladi Re
Zulmi Sang Aankh Ladi
Zulmi Sang Aankh Ladi Re……….

Top 100 Songs of Vyjayanthimala

Baaton Baaton Me Rog Badha Jaaye
Baaton Baaton Me Rog Badha Jaaye Re
Baaton Baaton Me Rog Badha Jaaye
Hamaara Jiya Tadpe Kisi Ke Liye Shaam Se
Mera Paagalpana To Koyee Dekho
Mera Paagalpana To Koyee Dekho Re
Mera Paagalpana To Koyee Dekho
Pukaroon Main Chandaa Ko
Saajan Ke Naam Se
Phiri Man Pe Jaadu Ki Chhadi
Zulmi Sang Aankh Ladi Re
Zulmi Sang Aankh Ladi
Zulmi Sang Aankh Ladi Re

Sakhi Main Ka Se Kahoon
Ri Sakhi Main Ka Se Kahoon
Jaane Kaise Ye Baat Badhi
Zulmi Sang Aankh Ladi Re
Zulmi Sang Aankh Ladi
Zulmi Sang Aankh Ladi Re……….

Song: Zulmi Sang Aankh Ladi
Film: Madhumati (1958)
Singer: Lata Mangeshkar
Music Director: Salil Chowdhury
Lyricist: Shailendra
Featuring: Vyjayanthimala, Dilip Kumar

Lyrics Zulmi Sang Aankh Ladi from Madhumati (1958)

Lyrics in Hindi | Zulmi Sang Aankh Ladi | Madhmati (1958) | Vyjayanthimala

ज़ुल्मी संग आँख लड़ी
ज़ुल्मी संग आँख लड़ी रे
ज़ुल्मी संग आँख लड़ी
ज़ुल्मी संग आँख लड़ी रे
ज़ुल्मी संग आँख लड़ी
ज़ुल्मी संग आँख लड़ी रे

सखी मैं का से कहूँ
री सखी मैं का से कहूँ
जाने कैसे ये बात बढ़ी
ज़ुल्मी संग आँख लड़ी रे
ज़ुल्मी संग आँख लड़ी
ज़ुल्मी संग आँख लड़ी रे ……….

Top 100 Black & White Songs

वो छुप छुप के बंसरी बजाये
वो छुप छुप के बंसरी बजाये रे
वो छुप छुप के बंसरी बजाये
सुनाये मोहे मस्ती में डूबा हुआ राग रे
मोहे तारों की छाँव में बुलाये
मोहे तारों की छाँव में बुलाये रे
मोहे तारों की छाँव में बुलाये
चुराए मेरी निंदिया
मैं रह जाऊं जाग रे
लगे दिन छोटा रात बड़ी
ज़ुल्मी संग आँख लड़ी रे
ज़ुल्मी संग आँख लड़ी
ज़ुल्मी संग आँख लड़ी रे

सखी मैं का से कहूँ
री सखी मैं का से कहूँ
जाने कैसे ये बात बढ़ी
ज़ुल्मी संग आँख लड़ी रे
ज़ुल्मी संग आँख लड़ी
ज़ुल्मी संग आँख लड़ी रे ……….

Top 100 Solo Songs of Lata Mangeshkar

बातों बातों में रोग बढ़ा जाए
बातों बातों में रोग बढ़ा जाए रे
बातों बातों में रोग बढ़ा जाए
हमारा जिया तड़पे किसी के लिए शाम से
मेरा पागलपन तो कोई देखो
मेरा पागलपन तो कोई देखो रे
मेरा पागलपन तो कोई देखो
पुकारूँ मैं चन्दा को
साजन के नाम से
फिरी मन पे जादू की छड़ी
ज़ुल्मी संग आँख लड़ी रे
ज़ुल्मी संग आँख लड़ी
ज़ुल्मी संग आँख लड़ी रे

सखी मैं का से कहूँ
री सखी मैं का से कहूँ
जाने कैसे ये बात बढ़ी
ज़ुल्मी संग आँख लड़ी रे
ज़ुल्मी संग आँख लड़ी
ज़ुल्मी संग आँख लड़ी रे ……….

गीत: ज़ुल्मी संग आँख लड़ी
फिल्म: मधुमती (1958)
गायक: लता मंगेशकर
संगीतकार: लिल चौधुरी
गीतकार: शैलेन्द्र
कलाकार: वैजयंतिमाला, दिलीप कुमार

Spread the love

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here