Lyrics Zindgi Kya Hai Gham Ka Dariya Hai

0
1058

Lyrics in English | Zindgi Kya Hai Gham Ka Dariya Hai | Pyar Kiya To Darna Kya-1963 | Shammi Kapoor

Zindagi Kya Hai
Gham Ka Dariya Hai
Na Jeena Yahaan Bas Me
Na Marna Yahaan Bas Me
Ajab Duniya Hai
Zindagi Kya Hai…………

Songs Starting from “Z”

Jhoothi Hai Duniya Ki Bahaaren
Rang Hai Saare Kachche
Jhoothi Hai Duniya Ki Bahaaren
Rang Hai Saare Kachche
Waqt Pade To Thaam Le Daaman
Phool Se Kaante Achchhe
Is Gulshan Me Kadam Kadam Par
Ek Naya Dhokha Hai
Naya Dhokha Hai
Zindagi Kya Hai
Gham Ka Dariya Hai
Na Jeena Yahaan Bas Me
Na Marna Yahaan Bas Me
Ajab Duniya Hai
Zindagi Kya Hai………

Bollywood Songs 1963

Jab Insaan Akela Tha To
Dukh Bhi Na Thai Jeewan Me
Jab Insaan Akela Tha To
Dukh Bhi Na Thai Jeewan Me
Paaya Jab Hamraahi Us Ne
Doob Gaya Uljhan Me
Ye Duniya Hai Begaano Ki
Kaun Yahaan Apna Hai
Yahaan Apna Hai
Zindagi Kya Hai
Gham Ka Dariya Hai
Na Jeena Yahaan Bas Me
Na Marna Yahaan Bas Me
Ajab Duniya Hai
Zindagi Kya Hai………

Shammi Kapoor and Mohammed Rafi Songs

Jitna Apne Gham Ko Bhulaana
Chahta Hai Insaan
Jitna Apne Gham Ko Bhulaana
Chahta Hai Insaan
Utna Hi Badhta Hai Gham Ka
Seene Me Toofan
Na Koyi Manzil Hai Dil Ki
Na Koyi Raasta Hai
Koyi Raasta Hai
Zindagi Kya Hai
Gham Ka Dariya Hai
Na Jeena Yahaan Bas Me
Na Marna Yahaan Bas Me
Ajab Duniya Hai
Zindagi Kya Hai………

Song: Zindagi Kya Hai Gham Ka Dariya Hai
Film: Pyar Kiya To Darna Kya (1963)
Singer: Mohammed Rafi
Music Director: Ravi
Lyricist: Shakeel Badayuni
Featuring: Shammi Kapoor

Lyrics in Hindi | Zindgi Kya Hai Gham Ka Dariya Hai | Pyar Kiya To Darna Kya (1963) | Mohammed Rafi | Ravi | Shakeel Badayuni

ज़िंदगी क्या है
ग़म का दरिया है
ना जीना यहाँ बस में
ना मरना यहाँ बस में
अजब दुनिया है
ज़िंदगी क्या है…………

Shakeel Badayuni and Mohammed Rafi Songs

झूठी है दुनिया की बहारें
रंग है सारे कच्चे
झूठी है दुनिया की बहारें
रंग है सारे कच्चे
वक़्त पड़े तो थाम ले दामन
फूल से कांटे अच्छे
इस गुलशन में कदम कदम पर
एक नया धोखा है
नया धोखा है
ज़िंदगी क्या है
ग़म का दरिया है
ना जीना यहाँ बस में
ना मरना यहाँ बस में
अजब दुनिया है
ज़िंदगी क्या है…………

Mohamm Rafi Sad Songs

जब इंसान अकेला था तो
दुःख भी ना थे जीवन में
जब इंसान अकेला था तो
दुःख भी ना थे जीवन में
पाया जब हमराही उस ने
डूब गया उलझन में
ये दुनिया है बेगानों की
कौन यहाँ अपना है
यहाँ अपना है
ज़िंदगी क्या है
ग़म का दरिया है
ना जीना यहाँ बस में
ना मरना यहाँ बस में
अजब दुनिया है
ज़िंदगी क्या है…………

Solo Songs of Mohammed Rafi

जितना अपने ग़म को भुलाना
चाहता है इंसान
जितना अपने ग़म को भुलाना
चाहता है इंसान
उतना ही बढ़ता है ग़म का
सीने में तूफ़ान
ना कोई मंज़िल है दिल की
ना कोई रास्ता है
कोई रास्ता है
ज़िंदगी क्या है
ग़म का दरिया है
ना जीना यहाँ बस में
ना मरना यहाँ बस में
अजब दुनिया है
ज़िंदगी क्या है…………

गीत: ज़िंदगी क्या है ग़म का दरिया है
फिल्म: प्यार किया तो डरना क्या (1963)
गायक: मोहम्मद रफ़ी
संगीतकार: रवि
गीतकार: शकील बदायूँनी
कलाकार: शम्मी कपूर

Spread the love

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here