Lyrics Ye Reshmi Zulfen Ye Sharbati Aankhen

0
806

Lyrics in English | Ye Reshmi Zulfen Ye Sharbati Aankhen | Do Raaste (1969) | Rajesh Khanna | Mumtaz

Ye Reshmi Zulfen
Ye Sharbati Aankhen
Inhe
Dekh Kar
Jee Rahen Hain Sabhi
Inhe
Dekh Kar
Jee Rahen Hain Sabhi
Ye Reshmi Zulfen
Ye Sharbati Aankhen
Inhe
Dekh Kar
Jee Rahen Hain Sabhi
Inhe
Dekh Kar
Jee Rahen Hain Sabhi……….

Antakshari Songs from “Y”

Jo Ye
Aankhen Sharam Se
Jhuk Jaayengi
Jo Ye
Aankhen Sharam Se
Jhuk Jaayengi
Saari
Baten Yahin Bas
Ruk Jaayegi
Chup Rehna Ye Afsana
Koyee In Ko Na Batlaana
Ke Inhe
Dekh Kar
Pee Rahen Hain Sabhi
Inhe
Dekh Kar
Pee Rahen Hain Sabhi
Ye Reshmi Zulfen
Ye Sharbati Aankhen
Inhe
Dekh Kar
Jee Rahen Hain Sabhi
Inhe
Dekh Kar
Jee Rahen Hain Sabhi……….

Top 25 Rajesh Khanna and Mumtaz Songs

Zulfen
Magroor Itni
Ho Jaayengi
Zulfen
Magroor Itni
Ho Jaayengi
Dil Ko
Tadpayengi
Jee Ko
Tarsayengi
Ye Ker Dengi Deewana
Koyee In Ko Na Batlaana
Ke Inhe
Dekh Kar
Jee Rahen Hain Sabhi
Inhe
Dekh Kar
Jee Rahen Hain Sabhi…………

Top 100 Romantic Songs of Mohammed Rafi

Saare
In Ki Shikayat
Kerte Hain
Saare
In Ki Shikayat
Kerte Hain
Phir Bhi
In Se Mohabbat
Kerte Hain
Ye Kya Jaadu Hai Jaane
Phir Chaak Gire Wa Deewane
Inhe
Dekh Kar
Jee Rahen Hain Sabhi
Inhe
Dekh Kar
Jee Rahen Hain Sabhi
Ye Reshmi Zulfen
Ye Sharbati Aankhen
Inhe
Dekh Kar
Jee Rahen Hain Sabhi
Inhe
Dekh Kar
Jee Rahen Hain Sabhi……….

Song: Ye Reshmi Zulfen Ye Sharbati Aankhen
Film: Do Raaste (1969)
Singer: Mohammed Rafi
Music Director: Laxmikant-Pyarelal
Lyricist: Anand Bakshi
Featuring: Rajesh Khanna, Mumtaz

Lyrics in Hindi | Ye Reshmi Zulfen Ye Sharbati Aankhen | Do Raaste (1969) | Rajesh Khanna | Mumtaz

यह रेशमी ज़ुल्फ़ें
ये शरबती आँखें
इन्हें
देख कर
जी रहे हैं सभी
इन्हें
देख कर
जी रहे हैं सभी
यह रेशमी ज़ुल्फ़ें
ये शरबती आँखें
इन्हें
देख कर
जी रहे हैं सभी
इन्हें
देख कर
जी रहे हैं सभी………….

Bollywood Retro Songs with 100 Million views on YouTube

जो ये
आँखे शरम से
झुक जायेगी
जो ये
आँखे शरम से
झुक जायेगी
सारी
बातें यहीं बस
रुक जाएगी
चुप रहना ये अफ़साना
कोई इन को ना बतलाना
के इन्हें
देख कर
पी रहे हैं सभी
इन्हें
देख कर
पी रहे हैं सभी
ये रेशमी ज़ुल्फ़ें
ये शरबती आँखें
इन्हें
देख कर
जी रहे हैं सभी
इन्हें
देख कर
जी रहे हैं सभी………….

Best Songs of Laxmikant-Pyarelal and Anand Bakshi

ज़ुल्फ़ें
मगरूर इतनी
हो जाएँगी
ज़ुल्फ़ें
मगरूर इतनी
हो जाएँगी
दिल को
तड़पायेगी
जी को
तरसाएगी
ये कर देंगी दीवाना
कोई इन को ना बतलाना
के इन्हें
देख कर
जी रहे हैं सभी
इन्हें
देख कर
जी रहे हैं सभी………..

Best of Rajesh Khanna and Mohammed Rafi Songs

सारे
इन की शिकायत
करते हैं
सारे
इन की शिकायत
करते है
फिर भी
इन से मोहब्बत
करते हैं
ये क्या जादू है जाने
फिर चाक गिरे वो दीवाने
इन्हे
देख कर
जी रहे हैं सभी
इन्हे
देख कर
जी रहे हैं सभी
ये रेशमी ज़ुल्फ़ें
ये शरबती आँखें
इन्हें
देख कर
जी रहे हैं सभी
इन्हें
देख कर
जी रहे हैं सभी………….

गीत: यह रेशमी ज़ुल्फ़ें ये शरबती आँखें
फिल्म: दो रास्ते (1969)
गायक: मोहम्मद रफ़ी
संगीतकार: लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल
गीतकार: आनंद बक्शी
कलाकार: राजेश खन्नामुमताज़

Spread the love

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here