Lyrics Phool Aahista Phenko

0
983

Lyrics in English | Phool Aahista Phenko | Prem Kahani (1975)

Kaha Aapka
Ye Wajah Hi Sahi
Ke Ham Bekadar
Bewafa Hi Sahi
Bade Shauk Se Jaayiye Chhod Kar
Magar Sehane Gulshan Se Yoon Tod Kar
Phool Aahista Phenko (2)
Phol Bade Naazuk Hote Hain
Phool Aahista Phenko
Phool Bade Naazuk Hote Hain
Waise Bhi To Ye Bad Kismat
Nonk Pe Kaanton Ki Sote Hain
Phool Aahista

Aahista Phenko
Phol Bade Naazuk Hote Hain
Phool Aahista Phenko…………..

Songs starting from “Ph” (फ)

Badi Khubsurat
Shikayat Hai Ye
Badi Khubsurat
Shikayat Hai Ye
Magar Sochiye
Kya Sharaafat Hai Ye
Jo Auron Ka Dil
Todte Rehate Hain
Lagi Chot Un Ko
To Ye Kehte Hain (2)
Ke Phool Aahista
Aahista Phenko
Phool Bade Naazuk Hote Hain
Jo Rulaate Hain Logon Ko
Ek Din Khud Bhi Rote Hain
Phool
Aahista Phenko
Phool Bade Naazuk Hote Hain
Ye Karenge Kaise Ghayal
Ye To Khud Ghayal Hote Hai
Phool Aahista Phenko …………

Laxmikant-Pyarelal and Anand Bakshi Songs

Bula Ke Bade
Aap Hamdard Hain
Bula Ke Bade
Aap Hamdard Hain
Bhala Kyon Na Ho
Aap Bhi Mard Hai
Hazaaron Sawaalon Ka Hai Ik Jawaab
Pare Be Nazar
Ye Na Ho Aye Janaab (2)
Phool Aahista……………

Song: Phool Aahista Phenko
Film: Prem Kahani (1975)
Singer: Lata Mangeshkar, Mukesh
Music Director: Laxmikant-Pyarelal
Lyricist: Anand Bakshi
Featuring: Rajesh Khanna, Mumtaz

Phool Aahista Phenko (Audio) Prem Kahani (1975)

Lyrics in Hindi | Phool Aahista Phenko | Prem Kahani (1975)

कहा आपका
ये वजह ही सही
के हम बेकदर
बेवफा ही सही
बड़े शौक से जाईये छोड़ कर
मगर सहने गुलशन से यूँ तोड़ कर
फूल आहिस्ता फेंको (2)
फूल बड़े नाज़ुक होते हैं
फूल आहिस्ता फेंको
फूल बड़े नाज़ुक होते हैं
वैसे भी तो ये बढ़ किस्मत
नोंक पे काँटों की सोते हैं
फूल आहिस्ता

आहिस्ता फेंको
फूल बड़े नाज़ुक होते हैं
फूल आहिस्ता फेंको…………..

Rajesh Khanna and Mukesh Songs

बड़ी खूबसूरत
शिकायत है ये
बड़ी खूबसूरत
शिकायत है ये
मगर सोचिये
क्या शराफत है ये
जो औरों का दिल
तोड़ते रहते हैं
लगी चोट उन को
तो ये कहते हैं (2)
के फूल आहिस्ता
आहिस्ता फेंको
फूल बड़े नाज़ुक होते हैं
जो रुलाते हैं लोगों को
एक दिन खुद भी रोते हैं
फूल
आहिस्ता फेंको
फूल बड़े नाज़ुक होते हैं
ये करेंगे कैसे घायल
ये तो खुद घायल होते है
फूल आहिस्ता फेंको …………

Rajesh Khanna and Mumtaz Songs

बुला के बड़े
आप हमदर्द हैं
बुला के बड़े
आप हमदर्द हैं
भला क्यों ना हो
आप भी मर्द है
हज़ारों सवालों का है इक जवाब
परे बे नज़र
ये ना हो ए जनाब (2)
फूल आहिस्ता……………

गीत: फूल आहिस्ता फेंको
फिल्म: प्रेम कहानी (1975)
गायक: लता मंगेशकर, मुकेश
संगीतकार: लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल
गीतकार: आनंद बक्शी
कलाकार: राजेश खन्नामुमताज़

Spread the love

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here