Lyrics Mehboob Mere

0
1313

Lyrics in English | Mehboob Mere Tu Hai To Duniya | Patthar Ke Sanam-1967 | Manoj Kumar, Waheeda Rehman

Mehboob Mere (4)
Tu Hai Toa Duniya
Kitni Haseen Hai Hai
Jo Tu Nahi Toa
Kuchh Bhi Nahi Hai

Mehboob Mere (4)
Tu Hai Toa Duniya
Kitni Haseen Hai Hai
Jo Tu Nahi Toa
Kuchh Bhi Nahi Hai
Mehboob Mere………..

Songs Starting from “M”

Tu Ho To Badh Jaati Hai
Keemat Mausam Ki
Tu Ho To Badh Jaati Hai
Keemat Mausam Ki
Ye Jo Teri Aankhen Hai
Shola Shabnam See
Yahin Marna Bhi Hai Mujh Ko
Mujhe Jeena Bhi Yahin Hain
Mehboob Mere (4)
Tu Hai Toa Duniya
Kitni Haseen Hai Hai Hai

Jo Tu Nahi Toa
Kuchh Bhi Nahi Hai
Mehboob Mere………..

Top 100 Songs Composed by Laxmikant-Pyarelal

Armaan Kis Ko Jannat Ki
Rangeen Galiyon Ka
Armaan Kis Ko Jannat Ki
Rangeen Galiyon Ka
Mujh Ko Tera Daaman Hai
Bistar Kaliyon Ka
Jahaan Par Hai Teri Baahen
Meri Jannat Bhi Wahin Hain
Mehboob Mere (4)
Tu Hai Toa Duniya
Kitni Haseen Hai Hai
Jo Tu Nahi Toa
Kuchh Bhi Nahi Hai
Mehboob Mere………..

Top 100 Songs written by Majrooh Sultanpuri

Rakh De Mujh Ko Tu Apna
Deewana Kar Ke
Rakh De Mujh Ko Tu Apna
Deewana Kar Ke

Nazdeek Aa Ja Phir Dekhoon
Tujh Ko Jee Bhar Ke
Mere Jaise Honge Laakhon
Koyi Bhi Tujh Sa Nahi Hai

Mehboob Mere
Ho Mehboob Mere
Mehboob Mere (2)
Tu Hai Toa Duniya
Kitni Haseen Hai Hai
Jo Tu Nahi Toa
Kuchh Bhi Nahi Hai
Mehboob Mere………..

Song: Mehboob Mere
Film: Patthar Ke Sanam (1967)
Singer: Lata Mangeshkar, Mukesh
Music Director: Laxmikant-Pyarelal
Lyricist: Majrooh Sultanpuri
Featuring: Waheeda Rehman, Manoj Kumar

Mehboob Mere Tu Hai To Duniya-YouTube Video | Patthar Ke Sanam-1967

Lyrics Mehboob Mere Tu Hai To Duniya from Patthar Ke Sanam (1967)

Lyrics in Hindi | Mehboob Mere Tu Hai To Duniya | Patthar Ke Sanam-1967 | Lata Mangeshkar, Mukesh

महबूब मेरे (4)
तू है तो दुनिया
कितनी हसीं है है
जो तू नहीं तो
कुछ भी नहीं है

महबूब मेरे (4)
तू है तो दुनिया
कितनी हसीं है है
जो तू नहीं तो
कुछ भी नहीं है
महबूब मेरे………..

All Time Best Songs of Waheeda Rehman

तू हो तो बढ़ जाती है
कीमत मौसम की
तू हो तो बढ़ जाती है
कीमत मौसम की
ये जो तेरी आँखें है
शोला शबनम सी
यहीं मरना भी है मुझ को
मुझे जीना भी यहीं हैं
महबूब मेरे (4)

तू है तो दुनिया
कितनी हसीं है है
जो तू नहीं तो
कुछ भी नहीं है
महबूब मेरे………..

Top 20 Romantic Songs of 1967

अरमाँ किस को जन्नत की
रंगीं गलियों का
अरमाँ किस को जन्नत की
रंगीं गलियों का
मुझ को तेरा दामन है
बिस्तर कलियों का
जहाँ पर है तेरी बाहें
मेरी जन्नत भी वहीँ हैं
महबूब मेरे (4)
तू है तो दुनिया
कितनी हसीं है है
जो तू नहीं तो
कुछ भी नहीं है
महबूब मेरे………..

Best Songs of Manoj Kumar

रख दे मुझ को तू अपना
दीवाना कर के
रख दे मुझ को तू अपना
दीवाना कर के

नज़दीक आ जा फिर देखूं
तुझ को जी भर के
मेरे जैसे होंगे लाखों
कोई भी तुझ सा नहीं है
महबूब मेरे

हो महबूब मेरे
महबूब मेरे (2)
तू है तो दुनिया
कितनी हसीं है है
जो तू नहीं तो
कुछ भी नहीं है
महबूब मेरे………..

गीत: महबूब मेरे
फिल्म: पत्थर के सनम (1967)
गायक: लता मंगेशकर, मुकेश
संगीतकार: लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल
गीतकार: मज़रुह सुल्तानपुरी
कलाकार: वहीदा रहमान, मनोज कुमार

Spread the love

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here