Lyrics Koi Nahi Hai Phir Bhi Hai Mujh Ko

0
805

Lyrics in English | Koi Nahi Hai Phir Bhi Hai Mujh Ko | Patthar Ke Sanam (1967) | Waheeda Rehman

Koyi Nahi Hai
Phir Bhi Hai Mujh Ko
Koyi Nahi Hai
Phir Bhi Hai Mujh Ko
Kya Jaane Kis Ka Intzaar
Ho Koyi Nahi Hai
Phir Bhi Hai Mujh Ko
Kya Jaane Kis Ka Intzaar
Ho Ye Bhi Na Jaanu
Lehra Ke Aanchal
Kis Ko Bulaaye Baar Baar………..

Songs Starting from “K”

Sochoon Ye
Hai Ungliyaan Kis Ke Pyar Ki
Gaalon Ko
Chhue Jo Daali Bahaar Ki (2)
O Sochoon Ye
Hai Ungliyaan Kis Ke Pyar Ki
Kaun Hai
Ae Hawa
Ae Bahaar
Koyi Nahi Hai
Phir Bhi Hai Mujh Ko
Kya Jaane Kis Ka Intzaar (2)…………

Top 100 Songs Composed by Laxmikant-Pyarelal

Paani Me
Chhabi Main Dekhoon Khadi Khadi
Baalon Me
Saja Ke Kaliyaan Badi Badi (2)
O Paani Me
Chhabi Main Dekhoon Khadi Khadi
Phir Banoon
Aap Hi
Bekaraar
Koyi Nahi Hai
Phir Bhi Hai Mujh Ko
Kya Jaane Kis Ka Intzaar (2)…………

Top 100 Songs written by Majrooh Sultanpuri

Waadi Me
Nishaan Mere Hi Paanv Ke
Phoolon Pe
Hain Rang Meri Hi Chhanv Ke (2)
O Waadi Me
Nishaan Mere Hi Paanv Ke
Phir Bhi Kyon
Aaye Na
Aitbaar
Koyi Nahi Hai
Phir Bhi Hai Mujh Ko
Kya Jaane Kis Ka Intzaar
Ho Ye Bhi Naa Jaanu
Lehra Ke Aanchal
Kis Ko Bulaaye Baar Baar
Kya Jaane Kis Ka Intzaar (2)………..

Song: Koi Nahi Hai Phir Bhi Hai Mujh Ko
Film: Patthar Ke Sanam (1967)
Singer: Lata Mangeshkar
Music Director: Laxmikant-Pyarelal
Lyricist: Majrooh Sultanpuri
Featuring: Waheeda Rehman

Lyrics Koi Nahi Hai Phir Bhi Hai Mujh Ko from Patthar Ke Sanam (1967)

Lyrics in Hindi | Koi Nahi Hai Phir Bhi Hai Mujh Ko | Patthar Ke Sanam (1967) | Waheeda Rehman

कोई नहीं है
फिर भी है मुझ को
कोई नहीं है
फिर भी है मुझ को
क्या जाने किस का इंतज़ार
हो कोई नहीं है
फिर भी है मुझ को
क्या जाने किस का इंतज़ार
हो ये भी ना जानू
लहरा के आँचल
किस को बुलाये बार बार………..

All Time Best Songs of Waheed Rehman

सोचूँ ये
है उंगलियां किस के प्यार की
गालों को
छुए जो डाली बहार की (2)
ओ सोचूँ ये
है उंगलियां किस के प्यार की
कौन है
ऐ हवा
ऐ बहार
कोई नहीं है
फिर भी है मुझ को
क्या जाने किस का इंतज़ार (2)…………

Top 20 Romantic Songs of 1967

पानी में
छबि मैं देखूं खड़ी खड़ी
बालों में
सजा के कलियाँ बड़ी बड़ी (2)
ओ पानी में
छबि मैं देखूं खड़ी खड़ी
फिर बनूँ
आप ही
बेकरार
कोई नहीं है
फिर भी है मुझ को
क्या जाने किस का इंतज़ार (2)…………

Best Songs of Manoj Kumar

वादी में
निशाँ मेरे ही पाँव के
फूलों पे
हैं रंग मेरी ही छाँव के (2)
ओ वादी में
निशाँ मेरे ही पाँव के
फिर भी क्यों
आये ना
ऐतबार
कोई नहीं है
फिर भी है मुझ को
क्या जाने किस का इंतज़ार
हो ये भी ना जानू
लहरा के आँचल
किस को बुलाये बार बार
क्या जाने किस का इंतज़ार (2)………..

गीत: कोई नहीं है फिर भी है मुझ को
फिल्म: पत्थर के सनम (1967)
गायक: लता मंगेशकर
संगीतकार: लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल
गीतकार: मज़रुह सुल्तानपुरी
कलाकार: वहीदा रहमान

Spread the love

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here