Lyrics Kisi Ki Muskurahato Pe Ho Nisaar

0
925

Lyrics in English | Kisi Ki Muskurahato Pe Ho Nisaar | Anari (1959)

Kisi Ki Muskurahato Pe Ho Nisaar
Kisi Ka Dard Mil Sake To Le Udhaar
Kisi Ke Waaste Ho Tere Dil Me Pyar
Jeena Isi Ka Naam Hai
Kisi Ki Muskurahato Pe Ho Nisaar
Kisi Ka Dard Mil Sake To Le Udhaar
Kisi Ke Waaste Ho Tere Dil Me Pyar
Jeena Isi Ka Naam Hai……….

Songs Starting from “K”

Maana Apni Jeb Se
Fakeer Hai
Phir Bhi Yaaron Dil Ke Ham
Amir Hai
Maana Apni Jeb Se
Fakeer Hai
Phir Bhi Yaaron Dil Ke Ham
Amir Hai
Mite Jo Pyar Ke Liye
Wo Zindgi
Jale Bahaar Ke Liye
Wo Zindgi
Kisi Ko Ho Na Ho Hame To Aitbaar
Jeena Isi Ka Naam Hai………

Best Songs of Shankar-Jaikishan and Shailendra

Rishta Dil Se Dil Ke
Aitbaar Ka
Zinda Hai Hami Se Naam
Pyar Ka
Rishta Dil Se Dil Ke
Aitbaar Ka
Zinda Hai Hami Se Naam
Pyar Kaa
Ke Mar Ke Bhi Kisi Ko
Yaad Aayege
Kisi Ke Aansuo Me
Muskurayenge
Kahega Phool Har Kali Se
Baar Baar
Jeena Isi Ka Naam Hai
Kisi Ki Muskurahato Pe Ho Nisaar
Kisi Ka Dard Mil Sake To Le Udhaar
Kisi Ke Waaste Ho Tere Dil Me Pyar
Jeena Isi Ka Naam Hai……….

Song: Kisi Ki Muskurahato Pe Ho Nisaar
Film: Anari (1959)
Singer: Mukesh
Music Director: Shankar-Jaikishan
Lyricist: Shailendra
Featuring: Raj Kapoor

Lyrics Kisi Ki Muskurahato Pe Ho Nisaar from Anari (1959)

Lyrics in Hindi | Kisi Ki Muskurahato Pe Ho Nisaar | Anari (1959)

किसी की मुस्कुराहटों पे हो निसार
किसी का दर्द मिल सके तो ले उधार
किसी के वास्ते हो तेरे दिल में प्यार
जीना इसी का नाम है
किसी की मुस्कुराहटों पे हो निसार
किसी का दर्द मिल सके तो ले उधार
किसी के वास्ते हो तेरे दिल में प्यार
जीना इसी का नाम है ……….

Top 100 Composition of Shankar-Jaikishan

माना अपनी जेब से
फ़कीर है
फिर भी यारों दिल के हम
अमीर है
माना अपनी जेब से
फ़कीर है
फिर भी यारों दिल के हम
अमीर है
मिटे जो प्यार के लिए
वो ज़िंदगी
जले बहार के लिए
वो ज़िंदगी
किसी को हो ना हो हमें तो ऐतबार
जीना इसी का नाम है ……….

Top 100 Black & White Songs

रिश्ता दिल से दिल के
ऐतबार का
ज़िंदा है हमीं से नाम
प्यार का
रिश्ता दिल से दिल के
ऐतबार का
ज़िंदा है हमीं से नाम
प्यार का
के मर के किसी को
याद आएंगे
किसी के आंसुओ में
मुस्कुरायेंगे
कहेगा फूल हर कली से
बार बार
जीना इसी का नाम है
किसी की मुस्कुराहटों पे हो निसार
किसी का दर्द मिल सके तो ले उधार
किसी के वास्ते हो तेरे दिल में प्यार
जीना इसी का नाम है ……….

गीत: किसी की मुस्कुराहटों पे हो निसार
फिल्म: अनाड़ी (1959)
गायक: मुकेश
संगीतकार: शंकर-जयकिशन
गीतकार: शैलेन्द्र
कलाकार: राज कपूर

Spread the love

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here