Lyrics Khiza Ke Phool Pe Aati Kabhi

0
1760

Lyrics in English | Khiza Ke Phool Pe Aati Kabhi | Do Raaste (1969) | Rajesh Khanna, Mumtaz

Khiza Ke Phool Pe
Aati Kabhi Bahar Nahi
Mere Naseeb Me Aye Dost
Tera Pyar Nahi
Mere Naseeb Me Aye Dost
Tera Pyar Nahi
Khiza Ke Phool Pe
Aati Kabhi Bahar Nahi
Mere Naseeb Me Aye Dost
Tera Pyar Nahi
Mere Naseeb Me Aye Dost
Tera Pyar Nahi ……………..

Antakshari Songs from “K”

Na Jaane Pyar Me Kab Main
Zubaan Se Phir Jaoon
Main Ban Ke Aansoo Khud Apni
Nazar Se Gir Jaoon
Teri Kasam Hai Mera Koyee
Aitbaar Nahi
Mere Naseeb Me Aye Dost
Tera Pyar Nahi……………..

Main Roz Lab Pe Nayee Ek
Aah Takta Hoon
Main Roz Ek Naye
Gham Ki Raah Takta Hoon
Kisi Khushi Ka Mere Dil Ko
Intzaar Nahi
Mere Naseeb Me Aye Dost
Tera Pyar Nahi………

Songs from Do Raaste (1969)

Gareeb Kaise Mohabbat
Kare Ameeron Se
Bichhad Gaye Hain Kayee Raanjhe
Apni Heero Se
Kisi Ko Apne Muqaddar Pe
Ikhtiyaar Nahi
Mere Naseeb Me Aye Dost
Tera Pyar Nahi
Khiza Ke Phool Pe
Aati Kabhi Bahar Nahi
Mere Naseeb Me Aye Dost
Tera Pyar Nahi ……………..

Song: Khiza Ke Phool Pe Aati Kabhi
Film: Do Raaste (1969)
Singer: Kishore Kumar
Music Director: Laxmikant-Pyarelal
Lyricist: Anand Bakshi
Featuring: Rajesh Khanna, Mumtaz

Khiza Ke Phool Pe Aati Kabhi-YouTube | Do Raaste (1969)

Lyrics in Hindi | Khiza Ke Phool Pe Aati Kabhi | Do Raaste (1969) | Mohammed Rafi

खिज़ा के फूल पे
आती कभी बहार नहीं
मेरे नसीब में ए दोस्त
तेरा प्यार नहीं
मेरे नसीब में ए दोस्त
तेरा प्यार नहीं
खिज़ा के फूल पे
आती कभी बहार नहीं
मेरे नसीब में ए दोस्त
तेरा प्यार नहीं
मेरे नसीब में ए दोस्त
तेरा प्यार नहीं…………….

Best Sad Songs of Kishore Kumar

ना जाने प्यार में कब मैं
ज़ुबाँ से फिर जाऊँ
मैं बन के आँसू खुद अपनी
नज़र से गिर जाऊँ
तेरी कसम है मेरा कोई
ऐतबार नहीं
मेरे नसीब में ए दोस्त
तेरा प्यार नहीं…………….

मैं रोज़ लब पे नयी एक
आह तकता हूँ
मैं रोज़ एक नए
ग़म की राह तकता हूँ
किसी ख़ुशी का मेरे दिल को
इंतज़ार नहीं
मेरे नसीब में ए दोस्त
तेरा प्यार नहीं…………….

Best Songs of Laxmikant-Pyarelal and Anand Bakshi

गरीब कैसे मोहब्बत
करे अमीरों से
बिछड़ गए हैं कई रांझे
अपनी हीरों से
किसी को अपने मुक़द्दर पे
इख्तियार नहीं
मेरे नसीब में ए दोस्त
तेरा प्यार नहीं
खिज़ा के फूल पे
आती कभी बहार नहीं
मेरे नसीब में ए दोस्त
तेरा प्यार नहीं…………….

गीत: खिज़ा के फूल पे
फिल्म: दो रास्ते (1969)
गायक: किशोर कुमार
संगीतकार: लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल
गीतकार: आनंद बक्शी
कलाकार: राजेश खन्नामुमताज़

Spread the love

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here