Lyrics Husn Hazir Hai

0
1007

Lyrics in English | Husn Hazir Hai Mohabbat Ki Saza Paane Ko | Laila Majnu-1976 | Lata Mangeshkar

Husn Haazir Hai
Muhabbat Ki Saza
Paane Ko
Husn Haazir Hai
Muhabbat Ki Saza
Paane Ko
Koi Patthar Se Na Maare
Mere Deewane Ko
Koi Patthar Se Na Maare
Mere Deewane Ko
Koi Patthar Se Na Maare
Mere Deewane Ko
Husn Haazir Hai
Muhabbat Ki Saza Paane Ko
Koi Patthar Se Na Maare
Mere Deewane Ko
Koi Patthar Se Na Maare
Mere Deewane Ko…………

Antakshari Songs from “H”

Mere Deewane Ko
Itna Na Satao Logon
Mere Deewane Ko
Itna Na Satao Logon
Ye To Vahshi Hai
Tumhin Hosh Me Aao Logon
Ye To Vahshi Hai
Tumhin Hosh Me Aao Logon
Bahut Ranjoor Hai Ye
Ghamon Se Choor Hai Ye
Bahut Ranjoor Hai Ye
Ghamon Se Choor Hai Ye
Khuda Ka Kauf Utha
Bahut Majaboor Hai Ye
Khuda Ka Kauf Utha
Bahut Majaboor Hai Ye
Kyoon Chale Aaye Ho (2)
Bebas Pe Sitam Dhaane Ko
Koi Patthar Se
Ho Koi Patthar Se Na Maare
Mere Deewane Ko
Koi Patthar Se Na Maare
Mere Deewane Ko………..

Top 100 Sad Songs of Lata Mangeshkar

Mere Jalwon Ki
Khata Hai Jo Ye Deewana Hua
Mere Jalwon Ki
Khata Hai Jo Ye Deewana Hua
Main Hoon Mujrim Ye
Agar Hosh Se Begaana Hua
Main Hoon Mujrim Ye
Agar Hosh Se Begaana Hua
Mujhe Sooli Chadha Do
Ke Sholon Me Jala Do
Mujhe Sooli Chadha Do
Ke Sholon Me Jala Do
Koi Shikva Nahi Hai
Jo Jee Chaahe Saza Do
Koi Shikva Nahi Hai
Jo Jee Chaahe Saza Do
Baksh Do Is Ko (2)
Main Taiyaar Hoon Mit Jaane Ko
Koi Patthar Se
Ho Koi Patthar Se Na Maare
Mere Deewane Ko
Koi Patthar Se Na Maare
Mere Deewane Ko………..

Top 100 Songs written by Sahir Ludhiyanvi

Pattharon Ko Bhi
Wafa Phool Bana Sakati Hai
Pattharon Ko Bhi
Wafa Phool Bana Sakati Hai
Ye Tamaasha Bhi
Sar-E-Aam Dikha Sakti Hai
Ye Tamaasha Bhi
Sar-E-Aam Dikha Sakti Hai
Lo Ab Patthar Uthao
Zamaane Ke Khudaaon
Lo Ab Patthar Uthao
Zamaane Ke Khudaaon
Tumhe Main Aazmaoon
Mujhe Tum Aazamaao
Tumhe Main Aazmaoon
Mujhe Tum Aazamaao
Ab Dua Arsh Pe (2)
Jaati Hai Asar Laane Ko
Ab Dua Arsh Pe
Jaati Hai Asar Laane Ko
Koi Patthar Se
Ho Koi Patthar Se Na Maare
Mere Deewane Ko
Koi Patthar Se Na Maare
Mere Deewane Ko
Husn Haazir Hai
Muhabbat Ki Saza Paane Ko
Koi Patthar Se Na Maare
Mere Deewane Ko
Koi Patthar Se Na Maare
Mere Deewane Ko…………

Song: Husn Haazir Hai Muhabbat Ki Saza Paane Ko
Film: Lalila Majnu (1976)
Singer: Lata Mangeshkar
Music: Madan Mohan, Jaidev
Lyricist: Sahir Ludhiyanvi
Featuring: Ranjeeta Kaur, Rishi Kapoor

Lyrics in Hindi | Husn Hazir Hai Mohabbat Ki Saza Paane Ko | Laila Majnu-1976 | Lata Mangeshkar

हुस्न हाज़िर है
मुहब्बत की सज़ा
पाने को
हुस्न हाज़िर है
मुहब्बत की सज़ा
पाने को
कोई पत्थर से ना मारे
मेरे दीवाने को
कोई पत्थर से ना मारे
मेरे दीवाने को
कोई पत्थर से ना मारे
मेरे दीवाने को
हुस्न हाज़िर है
मुहब्बत की सज़ा पाने को
कोई पत्थर से ना मारे
मेरे दीवाने को
कोई पत्थर से ना मारे
मेरे दीवाने को…………

Top 100 Songs composed by Madan Mohan

मेरे दीवाने को
इतना ना सताओ लोगों
मेरे दीवाने को
इतना ना सताओ लोगों
ये तो वहशी है
तुम्हीं होश में आओ लोगों
ये तो वहशी है
तुम्हीं होश में आओ लोगों
बहुत रंजूर है ये
ग़मों से चूर है ये
बहुत रंजूर है ये
ग़मों से चूर है ये
ख़ुदा का ख़ौफ़ उठा
बहुत मजबूर है ये
ख़ुदा का ख़ौफ़ उठा
बहुत मजबूर है ये
क्यों चले आये हो (2)
बेबस पे सितम ढाने को
कोई पत्थर से
हो कोई पत्थर से ना मारे
मेरे दीवाने को
कोई पत्थर से ना मारे
मेरे दीवाने को…………

Top 25 Songs of Ranjeeta Kaur

मेरे जलवों की
ख़ता है जो ये दीवाना हुआ
मेरे जलवों की
ख़ता है जो ये दीवाना हुआ
मैं हूँ मुजरिम ये
अगर होश से बेगाना हुआ
मैं हूँ मुजरिम ये
अगर होश से बेगाना हुआ
मुझे सूली चढ़ा दो
या शोलों में जला दो
मुझे सूली चढ़ा दो
या शोलों में जला दो
कोई शिक़वा नहीं है
जो जी चाहे सज़ा दो
कोई शिक़वा नहीं है
जो जी चाहे सज़ा दो
बख़्श दो इस को (2)
मैं तैयार हूँ मिट जाने को
कोई पत्थर से
हो कोई पत्थर से ना मारे
मेरे दीवाने को
कोई पत्थर से ना मारे
मेरे दीवाने को…………

Best Songs of 1970s

पत्थरों को भी
वफ़ा फूल बना सकती है
पत्थरों को भी
वफ़ा फूल बना सकती है
ये तमाशा भी
सर-ए-आम दिखा सकती है
ये तमाशा भी
सर-ए-आम दिखा सकती है
लो अब पत्थर उठाओ
ज़माने के ख़ुदाओं
लो अब पत्थर उठाओ
ज़माने के ख़ुदाओं
तुम्हे मैं आजमाऊँ
मुझे तुम आज़माओ
तुम्हे मैं आजमाऊँ
मुझे तुम आज़माओ
अब दुआ अर्श पे (2)
जाती है असर लाने को
अब दुआ अर्श पे
जाती है असर लाने को
कोई पत्थर से
हो कोई पत्थर से ना मारे
मेरे दीवाने को
कोई पत्थर से ना मारे
मेरे दीवाने को
हुस्न हाज़िर है
मुहब्बत की सज़ा पाने को
कोई पत्थर से ना मारे
मेरे दीवाने को
कोई पत्थर से ना मारे
मेरे दीवाने को…………

गीत: हुस्न हाज़िर है मुहब्बत की सज़ा पाने को
फिल्म: लैला मजनूँ (1976)
गायक: लता मंगेशकर
संगीतकार: मदन मोहन, जयदेव
गीतकार: साहिर लुधियानवी
कलाकार: रंजीता कौर, ऋषि कपूर

Spread the love

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here