Lyrics Garmi Hai Saanson Me

0
948

Lyrics in English | Garmi Hai Kahaan Hai Saanson Me | Maqsad (1984) | Rajesh Khann | Sridevi

Hoye Hoye Hoye Garmi Hai
Kahaan Hai
Saanson Me
Hoye Hoye Hoye Toofaan Hain
Are Kahaan Hai
Seene Me
Tu Pyar Ki
Barsaat Kar
Ubalne Laga Hai Badan
Abba
Amma
Abba
Amma
Abba
Oye Oye Oye Agni Hai
Kahaan Hai
Hothon Me
Oye Oye Oye Sholey Hain

Kahaan Hain
Aankhon Me
Tu Pyar Ki
Barsaat Kar
Jalne Laga Hai Badan

Abba
Amma
Abba
Amma
Abba………….

Songs starting from “H”

De (6)
Pyar Mujhe De De

Le (6)
Dil Mera Le Le
Addippa
Addippa
Addippa
Aa (6)
Aur Paas Aa Na

Ja (6)
Abhi Na Sataana
Roz Tu Mulakaat Kar
Machalne Laga Mera Man

Abba
Amma
Abba
Amma
Abba………….

Rajesh Khanna and Sridevi Songs

Hoye Hoye Hoye Garmi Hai
Kahaan Hai
Saanson Me
Hoye Hoye Hoye Toofaan Hain
Are Kahaan Hai
Seene Me
Tu Pyar Ki
Barsaat Kar
Ubalne Laga Hai Badan Hoye
Abba
Amma
Haan Abba
Amma
Abba ………….

All songs from Maqsad (1984)

Kis (6)
Uljhan Me Pad Gayee

Dhak (6)
Dhadkan Bad Gayee
Addippa
Addippa
Addippa
Are
Kya (6)
Aankh Kahin Lad Gayee

Haan (6)
Barchhi Gadh Gayee
Pyar Tu
Din Raat Kar
Pyaasa Hai Mera Jeewan
Abba
Amma
Abba
Amma
Abba ………….

Hoye Hoye Hoye Garmi Hai
Kahaan Hai
Saanson Me
Hoye Hoye Hoye Toofaan Hain
Kahaan Hai
Seene Me
Tu Pyar Ki
Barsaat Kar
Ubalne Laga Hai Badan
Abba
Amma
Abba
Amma
Hey Abba ………….

Song: Garmi Hai Kahaan Hai Saanson Me
Film: Maqsad (1984)
Singer: Kishore Kumar, Asha Bhosle
Music Director: Bappi Lahiri
Lyricist: Indeevar
Featuring: Rajesh Khanna, Sridevi

Lyrics in Hindi | Garmi Hai Kahaan Hai Saanson Me | Maqsad (1984) | Rajesh Khann | Sridevi

होये होये होये गर्मी है
कहाँ है
साँसों में
होये होये होये तूफ़ान हैं
अरे कहाँ है
सीने में
तू प्यार की
बरसात कर
उबलने लगा है बदन
अब्बा
अम्मा
अब्बा
अम्मा
अब्बा
ओये ओये ओये अग्नि है
कहाँ है
होठों में
ओये ओये ओये शोले हैं

कहाँ है
आँखों में
तू प्यार की
बरसात कर
उबलने लगा है बदन

अब्बा
अम्मा
अब्बा
अम्मा
अब्बा ………….

दे (6)
प्यार मुझे दे दे

ले (6)
दिल मेरा ले ले
अड़िप्पा
अड़िप्पा
अड़िप्पा
आ (6)
और पास आ ना

जा (6)
अभी ना सताना
रोज़ तू मुलाकात कर
मचलने लगा मेरा मन

अब्बा
अम्मा
अब्बा
अम्मा
अब्बा ………….

होये होये होये गर्मी है
कहाँ है
साँसों में
होये होये होये तूफ़ान हैं
अरे कहाँ है
सीने में
तू प्यार की
बरसात कर
उबलने लगा है बदन होये
अब्बा
अम्मा
हाँ अब्बा
अम्मा
अब्बा ………….

किस (6)
उलझन में पड़ गयी

धक् (6)
धड़कन बढ़ गयी
अड़िप्पा
अड़िप्पा
अड़िप्पा
अरे
क्या (6)
आँख कहीं लड़ गयी

हाँ (6)
बरछी गढ़ गयी
प्यार तू
दिन रात कर
प्यासा है मेरा जीवन
अब्बा
अम्मा
अब्बा
अम्मा
अब्बा ………….

होये होये होये गर्मी है
कहाँ है
साँसों में
होये होये होये तूफ़ान हैं
अरे कहाँ है
सीने में
तू प्यार की
बरसात कर
उबलने लगा है बदन
अब्बा
अम्मा
अब्बा
अम्मा
हे अब्बा ………….

गीत: गर्मी है कहाँ है साँसों में
फिल्म: मक़सद (1984)
गायक: किशोर कुमार, आशा भोसले
संगीतकार: बप्‍पी लहिरी
गीतकार: इंदीवर
कलाकार: राजेश खन्ना, श्रीदेवी

Spread the love

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here