Lyrics Buri Nazar Waale Tera Muh Kaala

0
737

Lyrics in English | Buri Nazar Waale Tera Muh Kaala| Mard (1985)

Buri Nazar Waale Tera Muh Kaala
Dil Hai Tera Kaala
Aur Lahu Bhi Kaala
Aye Saala
Buri Nazar Waale Tera Muh Kaala
Dil Hai Tera Kaala
Aur Lahu Bhi Kaala
Ja Saala
Hey Buri Nazar Waale Tera Muh Kaala
Dil Hai Tera Kaala
Aur Lahu Bhi Kaala…………..

Songs Starting from “B”

Are O Paise Waale
Tere Haathon Pe Lahu Hai
Kahin Hain Roti Maata
Kahin Pe Vidhwa Bahu Hai
Are O Paise Waale
Tere Haathon Pe Lahu Hai
Kahin Hain Roti Maata
Kahin Pe Vidhwa Bahu Hai
Yaad Rakh
Ye Sabak
In Ki Tarah Tu Bhi Tadap
Ham Muflis To Roz Hi
Thoda Thoda Marte Hain
Shuru Se Gareeb Ka
Aisa Hi Naseeb Hai
Shuru Se Gareeb Ka
Aisa Hi Naseeb Hai
Daulat To Door Hai Bas
Khuda Hi Kareeb Hai
Gareebon Ke Muh Se Tune
Chheena Niwaala
Tere Zulm Seh Kar
Ham Ne Tujh Ko Paala
Waah Saala
Buri Nazar Waale Tera Muh Kaala
Dil Hai Tera Kaala
Aur Lahu Bhi Kaala…………..

Best Songs of Amitabh Bachchan and Shabbir Kumar

Tere Mehlon Ke Neeche
Kayee Mazdoor Dafan Hain
Tere Sar Pe To Chhat Hai
Hammare Sar Pe Kafan Hai
Tere Mehlon Ke Neeche
Kayee Mazdoor Dafan Hain
Tere Sar Pe To Chhat Hai
Hammare Sar Pe Kafan Hai
Noton Ka Bistar Tera
Par Neend Na Aaye Zara
In Mehlon Me Reh Kar Bhi Tu
Chain Nahin Paata
Tutata Badan Hai Apna
Saare Din Ke Kaam Se
Tutata Badan Hai Apna
Saare Din Ke Kaam Se
Tu Bhi Kar Le Thodi Mehnat
Soyega Aaraam Se
Kyoon Zubaan Hai Band
Lag Gaya Hai Taala
Mard Ki Aulaad Se
Padaa Hai Paala
Aa Saala
Buri Nazar Waale Tera Muh Kaala
Dil Hai Tera Kaala
Aur Lahu Bhi Kaala…………..

Song: Buri Nazar Waale Tera Muh Kaala
Film: Mard (1985)
Singer: Shabbir Kumar
Music Director: Anu Malik
Lyricist: Prayag Raj
Featuring: Amitabh Bachchan, Prem Chopra

Lyrics Buri Nazar Waale Tera Muh Kaala from Mard (1985)

Lyrics in Hindi | Buri Nazar Waale Tera Muh Kaala | Mard (1985)

बुरी नज़र वाले तेरा मुँह काला
दिल है तेरा काला
और लहू भी काला
ऐ साला
बुरी नज़र वाले तेरा मुँह काला
दिल है तेरा काला
और लहू भी काला
जा साला
हे बुरी नज़र वाले तेरा मुँह काला
दिल है तेरा काला
और लहू भी काला…………..

Bollywood Songs of 1985

अरे ओ पैसे वाले
तेरे हाथों पे लहू है
कहीं हैं रोती माता
कहीं पे विधवा बहू है
अरे ओ पैसे वाले
तेरे हाथों पे लहू है
कहीं हैं रोती माता
कहीं पे विधवा बहू है
याद रख
ये सबक
इन की तरह तू भी तड़प
हम मुफ़लिस तो रोज़ ही
थोड़ा थोड़ा मरते हैं
शुरु से गरीब का
ऐसा ही नसीब है
शुरु से गरीब का
ऐसा ही नसीब है
दौलत तो दूर है बस
खुदा ही करीब है
गरीबों के मुँह से तूने
छीना निवाला
तेरे ज़ुल्म सह कर
हम ने तुझ को पाला
वाह साला
बुरी नज़र वाले तेरा मुँह काला
दिल है तेरा काला
और लहू भी काला…………..

A to Z Hindi Hindi Songs

तेरे महलों के नीचे
कई मज़दूर दफ़न हैं
तेरे सर पे तो छत है
हम्मरे सर पे कफ़न है
तेरे महलों के नीचे
कई मज़दूर दफ़न हैं
तेरे सर पे तो छत है
हम्मरे सर पे कफ़न है
नोटों का बिस्तर तेरा
पर नींद ना आये ज़रा
इन महलों में रह कर भी तू
चैन नहीं पाता
टूटता बदन है अपना
सारे दिन के काम से
टूटता बदन है अपना
सारे दिन के काम से
तू भी कर ले थोड़ी मेहनत
सोयेगा आराम से
क्यूँ ज़ुबाँ है बंद
लग गया है ताला
मर्द की औलाद से
पड़ा है पाला
आ साला
बुरी नज़र वाले तेरा मुँह काला
दिल है तेरा काला
और लहू भी काला…………..

गीत: बुरी नज़र वाले तेरा मुँह काला
फिल्म: मर्द (1985)
गायक: शब्बीर कुमार
संगीतकार: अनु मलिक
गीतकार: प्रयाग राज
कलाकार: अमिताभ बच्चन, प्रेम चोपड़ा

Spread the love

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here